क्या है Short Term Loan और इसे कैसे प्राप्त करें?

नमस्ते दोस्तों, क्या आपने कभी ‘Short Term Loan’ के बारे में सुना है? कभी ऐसा हो सकता है कि आपको तत्काल नकदी की आवश्यकता पड़ जाए और कोई मदद करने के लिए उपलब्ध ना हो, ऐसे में आप क्या करेंगे? मैं आपकी मदद के लिए एक अच्छा सुझाव लेकर आया हूँ।

आज, मैं आपको ‘शॉर्ट-टर्म लोन’ के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसका उपयोग आपकी तुरंत नकदी की समस्याओं का समाधान करने में किया जा सकता है। यह एक नई ऋति का ऋण विकल्प है जिसके माध्यम से आपकी समस्याएं हल हो सकती हैं। ‘शॉर्ट-टर्म लोन’ पर्सनल लोन की तरह ही होता है, लेकिन इसकी चुकता करने की अवधि पर्सनल लोन की तुलना में कम होती है और इसे प्राप्त करना सरल और त्वरित होता है। इसके लिए कम दस्तावेज़ों की आवश्यकता होती है और बैंक के चक्करों की जरूरत नहीं पड़ती क्योंकि यह ऑनलाइन तरीके से उपलब्ध होता है। यह त्वरित ऋण आपकी तत्काल नकदी की समस्याओं को हल कर सकता है, जिससे आपकी जीवनशैली बहुत आसान हो सकती है।

शॉर्ट-टर्म लोन: परिभाषा और उपयोग

  • शॉर्ट-टर्म लोन क्या होता है?: शॉर्ट-टर्म लोन वह ऋण होता है जो 1 साल या उससे कम समय के लिए प्रदान किया जाता है। यह एक अस्थायी वित्त विकल्प होता है जो आकस्मिक वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद कर सकता है।
  • किस स्थितियों में लिया जाता है?: इस तरह के ऋण का उपयोग बीमारी के इलाज, बिजनेस में आकस्मिक पैसे की आवश्यकता, शादी से पहले की खरीदारी, बड़ी खरीददारी आदि की तरह असमान समयों में किया जा सकता है।
  • प्रमुख विशेषताएं:
  • शॉर्ट-टर्म लोन की मंजूरी कुछ घंटों या एक से दो दिन के अंदर दी जा सकती है, जो कि आकस्मिकता की स्थितियों में बेहद महत्वपूर्ण होती है।
  • ब्याज दर: शॉर्ट-टर्म लोन में अक्सर पर्सनल लोन से अधिक ब्याज दर होती है, इसलिए आवेदकों को इसकी ध्यान में रखना आवश्यक होता है।

शॉर्ट-टर्म लोन के प्रकार:

  1. व्यापारिक ऋण: यह ऋण व्यापारिक चुनौतियों के समय में उपयोगी होता है। व्यापारिक लोग अचानक पैसों की आवश्यकता पूरी करने के लिए इसे प्राप्त कर सकते हैं।
  2. कार्यशील पूंजी ऋण: वित्तीय संस्थानों से प्राप्त किया जाने वाला शॉर्ट-टर्म लोन होता है। इसके लिए बैंक या वित्तीय संस्थान आवेदक के व्यवसायिक प्रगति, पिछले रिकॉर्ड, और व्यवसायिक योजना के आधार पर मंजूरी देते हैं।
  3. बिल में छूट: इसका मतलब है कि आप अपने प्राप्य चालानों के भुगतान को तालने का विकल्प चुनते हैं। यह आपको स्थायी कार्यशील पूंजी की आवश्यकता से बचा सकता है।
  4. फैक्टरिंग: यह वित्तीय व्यवस्था एक तिहरी पक्ष (फैक्टर) के बीच होती है, जिसका अर्थ है कि व्यवसाय अपने प्राप्य खातों की कुछ भाग को उन्हें बेच देता है।
  5. बिजनेस लाइन ऑफ क्रेडिट: यह एक संबंधित वित्तीय उपाय होता है जिसमें एक निश्चित सीमा तक ऋण प्राप्त किया जा सकता है। यह व्यवसायी को विभिन्न आवश्यकताओं के लिए अपने पास नकद पूंजी की आवश्यकता के अनुसार धन उपलब्ध कराता है।

शॉर्ट-टर्म लोन के ब्याज दर:

  • ब्याज दर पर प्रभाव: शॉर्ट-टर्म फाइनेंस का लाभ उपलब्धता और सुविधा से आता है, लेकिन इसके साथ ही इसमें अधिक ब्याज दर भी होती है।
  • ब्याज दर की आंकड़े: शॉर्ट-टर्म फाइनेंस के लिए ब्याज दर 12% से 22% तक विभिन्न हो सकती है।
  • प्रोसेसिंग फीस और अन्य शुल्क: इसके अलावा, शॉर्ट-टर्म फाइनेंस के लिए एक प्रोसेसिंग फीस भी होती है, जो कि कॉम्पनियों के आधार पर अलग-अलग हो सकती है।
  • विविधता और विचारधीनता: ब्याज दर और अन्य शुल्क कंपनी की नीतियों और शर्तों के आधार पर अलग-अलग हो सकते हैं।

शॉर्ट-टर्म लोन की अवधि:

  • ऋण की अवधि: शॉर्ट-टर्म फाइनेंस आमतौर पर 15 दिनों तक की भी मिल सकती है और इसके भुगतान की अवधि आमतौर पर 6 महीने से ज्यादा नहीं होती है।
  • पर्सनल लोन के मुकाबले: विपरीत, पर्सनल लोन के भुगतान की अवधि कम से कम 6 महीने की होती है, इससे पहले उसे पूरा करना संभाव नहीं होता।

शॉर्ट-टर्म लोन के लिए पात्रता:

  • आयु: शॉर्ट-टर्म लोन पाने के लिए आपकी उम्र कम से कम 21 वर्ष और अधिकतम 65 वर्ष होनी चाहिए।
  • पेशा और आय: आपके पास नौकरी या खुदका व्यवसाय होना आवश्यक है और आय का स्रोत होना चाहिए।
  • स्थिरता: आपकी आय की स्थिरता और व्यवसायिक स्थिरता भी लोन पाने के लिए महत्वपूर्ण होती है।

शॉर्ट-टर्म लोन के लाभ:

  • कम ब्याज दर: शॉर्ट-टर्म लोन की अवधि कम होने के कारण उसके ब्याज दर भी अधिक नहीं होते, जिससे आपकी ब्याज की लागत कम होती है।
  • ऑनलाइन प्रक्रिया: इसे प्राप्त करने के लिए आपको बैंक जाने की आवश्यकता नहीं होती, आप इसे ऑनलाइन प्रक्रिया के जरिए आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।
  • कम दस्तावेज़ों की आवश्यकता: इसके लिए केवल कुछ कम दस्तावेज़ों की आवश्यकता होती है, जिससे आपको लोन प्राप्त करने में आसानी होती है।
  • त्वरित अनुमोदन: शॉर्ट-टर्म फाइनेंस के लोन के अनुमोदन का समय आमतौर पर कुछ घंटों या एक-दो दिनों के भीतर होता है।

शॉर्ट-टर्म लोन के नकारात्मक पहलु:

  • लोन की अधिक चिकित्सा: शॉर्ट-टर्म लोन एक वर्ष या उससे कम अवधि के लिए प्राप्त होता है, जिससे लोन की मासिक किस्तें अधिक होती हैं। इससे चुकौती करने की संभावना बढ़ जाती है और अगर ऐसा होता है तो आपका क्रेडिट स्कोर प्रभावित हो सकता है।
  • क्रेडिट स्कोर का प्रभाव: यदि आप लोन की किस्तें समय पर नहीं चुकते हैं, तो आपका क्रेडिट स्कोर प्रभावित हो सकता है, जिससे आपकी वित्तीय स्थिति पर असर पड़ सकता है।
  • क्रेडिट स्कोर जांचें: यदि आप अपने क्रेडिट स्कोर की जांच करना चाहते हैं, तो आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं।

निष्कर्ष:

शॉर्ट-टर्म लोन की उपयोगिता: शॉर्ट-टर्म लोन बिजनेसमेन के साथ-साथ सामान्य व्यक्तियों के लिए भी उपयोगी है। यह अचानक आने वाली वित्तीय समस्याओं का समाधान करने में मदद करता है और आकस्मिक खरीददारी या अचानक आने वाली चुनौतियों के लिए आवश्यक धन प्रदान करता है।

वित्तीय खतरा और सोच-समझ कर लेना: शॉर्ट-टर्म लोन के बिना चुकती के लाभ के साथ-साथ वित्तीय बोझ और दैनिक व्यवसायिक गतिविधियों में समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। इसलिए इसे बिना विचार किए नहीं लेना चाहिए।

यह भी पढे:What Is Short Term Loan And Its Benefits

FAQs (पूछे जाने वाले प्रश्न):

क्या शॉर्ट-टर्म लोन के लिए किसी पंजीकृत निवेशक की आवश्यकता होती है?

  • नहीं, सामान्यत: इसके लिए कोई पंजीकृत निवेशक की आवश्यकता नहीं होती है, जिसे लोन राशि के खिलाफ सुरक्षा के रूप में प्रदान करने की आवश्यकता होती है।

शॉर्ट-टर्म लोन के लिए उपलब्ध लोन राशि क्या है?

  • लोन राशि: इस प्रकार के लोन की शुरुआती राशि आमतौर पर 5,000 रुपये से शुरू होती है और यह 3 लाख रुपये तक बढ़ सकती है।

शॉर्ट-टर्म लोन की कितनी अवधि होती है?

  • चुकौती अवधि: यह लोन आमतौर पर 1 महीने से 12 महीने (1 वर्ष) के बीच की अवधि के लिए चुन सकते हैं।

क्या मुझे अपने क्रेडिट स्कोर की चिंता करनी चाहिए?

  • क्रेडिट स्कोर का प्रभाव: हाँ, आपके लोन की किस्तों को समय पर चुकाने से आपके क्रेडिट स्कोर पर अच्छा प्रभाव पड़ता है, जिससे आपकी वित्तीय स्थिति सुरक्षित रहती है।

क्या मुझे पहले से व्यक्तिगत ऋण होना आवश्यक है?

  • पहले से ऋण की आवश्यकता नहीं: नहीं, आपके पास पहले से व्यक्तिगत ऋण न होने के कारण भी आप शॉर्ट-टर्म लोन ले सकते हैं।

क्या शॉर्ट-टर्म लोन का ब्याज दर परियाप्त होता है?

  • ब्याज दर: शॉर्ट-टर्म लोन की ब्याज दर आमतौर पर 12% से 22% तक हो सकती है, लेकिन यह आपके क्रेडिट प्रोफाइल और ऋण राशि पर निर्भर करती है।

क्या मुझे शॉर्ट-टर्म लोन के लिए सुरक्षा जमा करनी होगी?

  • सुरक्षा जमा की आवश्यकता नहीं: आमतौर पर, शॉर्ट-टर्म लोन के लिए किसी प्रकार की सुरक्षा जमा करने की आवश्यकता नहीं होती है।

क्या मैं अपने लोन की किस्तें पहले भी चुका सकता हूँ?

  • पहले चुकता: जी हां, आप अपने शॉर्ट-टर्म लोन की किस्तें पहले भी चुका सकते हैं, लेकिन ऐसा करने से आपको कुछ ब्याज और शुल्क भी भुगतान करने पड़ सकते हैं।

यह भी पढे:Cost of Raising a Child in India 2023

Optimized by Optimole